32 C
Mumbai
Wednesday, October 21, 2020

फोन ऑर्डर करने पर मिला साबुन, एमेजॉन के कंट्री हेड पर हुआ केस

विज्ञापन
Loading...

Must read

भोजपुर में बोले राजनाथ सिंह- BJP व JDU की जोड़ी सचिन-सहवाग की तरह, इसे नकारना मत

केंद्रीय रक्षा मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता राजनाथ सिंह ने बिहार के भोजपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करेत...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

फोन ऑर्डर करने पर मिला साबुन, एमेजॉन के कंट्री हेड पर हुआ केस

एमेजॉन इंडिया के हेड के साथ तीन और लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. इनके खिलाफ एक कस्टमर ने शिकायत की थी. कस्टमर की शिकायत थी कि उसने ईकॉमर्स कंपनी से फोन मंगाया था लेकिन जब उसे पार्सल मिला तो उसमें फोन नहीं बल्कि साबुन था. केस ग्रेटर नोएडा के बिसरख पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया.

हालांकि कंपनी ने कहा कि धोखाधड़ी के इन घटनाओं को वो बड़ी ही गंभीरता से ले रही है और मामले की जांच में पुलिस का पूरा सहयोग कर रही है.

बिसरख के सर्किल ऑफिसर निशंक शर्मा ने बताया- ‘बिसराख पुलिस स्टेशन में एक मामला दर्ज किया गया है. शिकायतकर्ता ने कहा कि उसने अमेजन वेबसाइट के जरिए एक मोबाइल फोन ऑर्डर किया था. 27 अक्टूबर को जब उसे डिलीवरी मिली और पार्सल खोला, तो उसे फोन के बजाय एक साबुन मिला.’

न्यूज18 के मुताबिक शिकायत के आधार पर अमेजन के कंट्री हेड अमित अग्रवाल, लॉजिस्टिक्स फर्म दर्शिता प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर प्रदीप कुमार और रविश अग्रवाल और डिलीवरी ब्वॉय अनिल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

पुलिस के अनुसार उन्हें आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी और बेईमानी), 406 (भरोसे के आपराधिक उल्लंघन) और 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) के तहत मामला दर्ज किया गया है. शर्मा ने कहा कि इस मामले में कानूनी कार्यवाही शुरू की चुकी है.

संपर्क करने पर अमेजन ने घटना की पुष्टि की है. और उन्होंने ये भी कहा कि शिकायतकर्ता को पैसे रिफंड करने की प्रक्रिया शुरु कर दी गई है.

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

भोजपुर में बोले राजनाथ सिंह- BJP व JDU की जोड़ी सचिन-सहवाग की तरह, इसे नकारना मत

केंद्रीय रक्षा मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता राजनाथ सिंह ने बिहार के भोजपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करेत...

क्या पाकिस्तान FTF की ‘ग्रे सूची’ से निकल सकता है या नहीं? जानें क्या कहती है नई रिपोर्ट

पाकिस्तान, वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एपएटीएफ) की 'ग्रे सूची' में संभवत: बना रहेगा क्योंकि वैश्विक निगरानी कार्य योजना द्वारा दिए गए 27 लक्ष्यों में...