26.5 C
Mumbai
Thursday, August 6, 2020

ब्राजील के बार में गोलीबारी से 11 लोगों की मौत, मास्क पहनकर आए थे हमलावर

विज्ञापन
Loading...

Must read

UNSC में कश्मीर मसले पर पाक की पैरवी कर पहले चीन ने कराई अपनी फजीहत, फिर भारत ने दिखाई आंख

चीन द्वारा पाकिस्तान की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जम्मू-कश्मीर का मामला उठाए जाने पर भारत सरकार ड्रैगन को आड़े हाथों लिया।...

अच्छी खबर! अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना अब बिहार के सभी जिलों में

‘अपनी क्यारी- अपनी थाली’ योजना राज्य के चार जिलों में कोरोना से जंग में कामयाब रही तो अब सरकार उसके विस्तार की योजना...

कोविड-19 के गंभीर रूप से बीमार मरीजों के इलाज में कारगर साबित हुई नई दवा आरएलएफ-100

अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में एक अस्पताल के डॉक्टरों ने आरएलएफ-100 नाम की नई दवा का इस्तेमाल किया है, जिससे गंभीर रूप से बीमार...

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण धमाके में यूपी की पत्रकार भी घायल

मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

ब्राजील के उत्तरी हिस्से में स्थित एक बार में हुई गोलीबारी से 11 लोगों की मौत हो गई है। पुलिस का कहना है कि कम से कम सात बंदूकधारियों ने गोलीबारी की। इन सभी ने चेहरे पर मास्क पहना हुआ था। 

विज्ञापन

विज्ञापन

ये घटना रविवार को ब्राजील के बेलेम शहर में हुई है। उत्तरी पैरा स्टेट के नागरिक सुरक्षा विभाग के अनुसार, बेलेम शहर के एक बार में हुए इस हमले में 11 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि गोलीबारी के पीछे के कारणों का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। हमलावर मौके से फरार हो गए थे। लेकिन एक मीडिया रिपोर्ट का कहना है कि एक हमलावर पकड़ा गया है। जो कि घायल है।

वहीं घायलों में छह महिलाएं और पांच पुरुष हैं। जी1 वेबसाइट के अनुसार, सातों हमलावर मोटरसाइकल और तीन कारों से बार में पहुंचे थे। हमले के बाद सभी फरार हो गए। 

मार्च के आखिर में संघीय सरकार ने बेलेम में नेशनल गार्ड के सैनिकों को भी 90 दिनों के लिए सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के लिए भेजा था। 

आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि ब्राजील में 2017 में रिकॉर्ड 64 हजार हत्याएं हुई थीं। जिनमें से 70 फीसदी फायरिंग के कारण हुईं। यहां अधिकतर हिंसा गिरोह से संबंधित होती हैं। जनवरी में भी फोर्तेलीजा शहर में गोलीबारी की घटना हुई थी। जिसके चलते वहां कई दिनों तक बसों और टैक्सी की सेवाएं बाधित रहीं।

इसके अलावा देश के सबसे बड़े शहर रियो डी जेनेरो में आए दिन प्रतिद्वंद्वी गिरोहों के बीच गोलीबारी होती है। हालात ऐसे हैं कि कई बार पुलिस और अपराधियों के बीच चली गोलीबारी में घटनास्थल पर मौजूद निर्दोष लोग भी मारे जाते हैं।

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

UNSC में कश्मीर मसले पर पाक की पैरवी कर पहले चीन ने कराई अपनी फजीहत, फिर भारत ने दिखाई आंख

चीन द्वारा पाकिस्तान की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जम्मू-कश्मीर का मामला उठाए जाने पर भारत सरकार ड्रैगन को आड़े हाथों लिया।...

अच्छी खबर! अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना अब बिहार के सभी जिलों में

‘अपनी क्यारी- अपनी थाली’ योजना राज्य के चार जिलों में कोरोना से जंग में कामयाब रही तो अब सरकार उसके विस्तार की योजना...

कोविड-19 के गंभीर रूप से बीमार मरीजों के इलाज में कारगर साबित हुई नई दवा आरएलएफ-100

अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में एक अस्पताल के डॉक्टरों ने आरएलएफ-100 नाम की नई दवा का इस्तेमाल किया है, जिससे गंभीर रूप से बीमार...

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण धमाके में यूपी की पत्रकार भी घायल

मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई...

इमरान खान को करारा झटका: UNSC ने फिर कहा- द्विपक्षीय तरीके से हल करें कश्मीर मुद्दा

कश्मीर घाटी का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की पाकिस्तान की कोशिशों को बुधवार को एक और करारा झटका लगा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने...