31 C
Mumbai
Monday, May 25, 2020
विज्ञापन
Loading...

यहां कर्मचारियों से मांगा जाता है देसी मुर्गा! जानें वजह

विज्ञापन
Loading...

Must read

COVID-19 : प्रियंका गांधी ने कोरोना के आंकड़ों पर योगी सरकार को घेरा 

कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कोरोना को लेकर सरकार के...

Success Mantra: जल्द कामयाबी हासिल करने के लिए अपनाएं सफलता के ये 5 मंत्र

Success Mantra:जीवन में हर व्यक्ति जल्द से जल्द कामयाबी की सीढ़ी चढ़कर सफलता का स्वाद चखना चाहता है। लेकिन सफल होने के लिए...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

झारखंड के पूर्वी सिंहभूमि जिले के चाकुलिया के बीडीओ लेखराज नाग को रोज देसी मुर्गा चाहिए। वह भी छोटे साइज का। इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। बड़ी बात यह है कि मुर्गा उन्हें मुफ्त में चाहिए। और मुर्गा उपलब्ध कराने की जवाबदेही प्रखंड के कर्मचारियों की है। नहीं देने पर कर्मचारियों को नौकरी से भी हाथ धोना पड़ रहा है। जिनसे मांग होती है, वे स्थायी कर्मचारी भी नहीं हैं। बल्कि कम वेतन वाले अनुबंधकर्मी कंप्यूटर ऑपरेटर हैं। उनका ऐसे ही एक कंप्यूअर ऑपरेटर विक्रम उपाध्याय के साथ मोबाइल पर बातचीत का एक ऑडियो क्लिप शुक्रवार को वायरल हो गया। यह ऑडियो 20 जून का बताया जाता है। 

इसमें वे कर्मचारी से छोटे साईज का देसी चिकन लाने का फरमान देते सुनाई देते हैं। हालांकि विक्रम रोज-रोज की मांग से आजिज आकर मुर्गा लाने से इनकार कर देता है। इसके कारण बीडीओ साहब उसी दिन से ड्यूटी पर नहीं आने का फरमान सुना देते हैं। इस क्लिप में जब विक्रम यह कहता है कि वह चिकन नहीं ला सकता है। रोज-रोज उसे ही कहा जाता है, तो बीडीओ कहते हैं कि पांडेय जी भी लाते हैं। खोखन भी लाता है। 
 

BJP MLA की बेटी की शादी में आया नया मोड़, पति को लेकर हुआ ये खुलासा

इस मामले में नौकरी से निकाले गए चाकुलिया निवासी विक्रम उपाध्याय का कहना है कि बीडीओ ऑफिस के साथ-साथ अपने घर का भी काम करवाते हैं। सब्जी आदि लाना पड़ता है। जो कर्मचारी ऐसे काम करने से इनकार करता है उसे मानसिक रूप से इतना प्रताड़ित किया जाता है कि वह खुद ही इस्तीफा देकर चला जाता है। पूर्व में कई कर्मचारी काम छोड़ चुके हैं, उसका ऐसा दावा है। इसलिए उसने सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई है। 

चाकुलिया बीडीओ लेखराज नाग ने बताया कि विक्रम उपाध्याय का आरोप निराधार है। उसे कार्यालय की गोपनीय बातें सार्वजनिक करने के कारण निकाला गया है, न कि देसी चिकन नहीं लाने की वजह से। फिलहाल 8 कंप्यूटर ऑपरेटर कार्यालय में हैं। एक अन्य ऑपरेटर को भी बैठाया गया है। 

गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देने, महंगे कपड़े का शौक पूरा करने को लूटते रहे चेन

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

COVID-19 : प्रियंका गांधी ने कोरोना के आंकड़ों पर योगी सरकार को घेरा 

कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कोरोना को लेकर सरकार के...

Success Mantra: जल्द कामयाबी हासिल करने के लिए अपनाएं सफलता के ये 5 मंत्र

Success Mantra:जीवन में हर व्यक्ति जल्द से जल्द कामयाबी की सीढ़ी चढ़कर सफलता का स्वाद चखना चाहता है। लेकिन सफल होने के लिए...

अमेरिका ने चीन की 33 कंपनियों को किया ब्लैकलिस्ट, ड्रैगन भी कर सकता है जवाबी कार्रवाई

दुनिया की दो महाशक्तियों चीन और अमेरिका के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। अमेरिका ने 33 चाइनीज कंपनियों और संस्थाओं को ट्रेड...