31 C
Mumbai
Monday, May 25, 2020
विज्ञापन
Loading...
Array

महंगाई की मार : वेनेजुएला में टमाटर 28 हजार रुपये प्रति किलो, चिकन की कीमत करोड़ों में

विज्ञापन
Loading...

Must read

COVID-19 : प्रियंका गांधी ने कोरोना के आंकड़ों पर योगी सरकार को घेरा 

कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कोरोना को लेकर सरकार के...

Success Mantra: जल्द कामयाबी हासिल करने के लिए अपनाएं सफलता के ये 5 मंत्र

Success Mantra:जीवन में हर व्यक्ति जल्द से जल्द कामयाबी की सीढ़ी चढ़कर सफलता का स्वाद चखना चाहता है। लेकिन सफल होने के लिए...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

अपने तेल भंडार के बूते कभी दुनिया के धनवान देशों में शामिल वेनेजुएला आज खस्ताहाल हो चुका है। महंगाई दर एक करोड़ फीसदी पहुंच गई है। जबकि भारत में महंगाई दर सिर्फ 3.18 फीसदी है। वहां की मुद्रा बोलीवर्स का अवमूल्यन होने के बाद एक लाख की कीमत एक बोलीवर्स रह गई है। महंगाई का आलम का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक किलो टमाटर की कीमत 28 हजार रुपये (50 लाख बोलीवर्स) से अधिक हो गई है।

एक साल में 1100 फीसदी की वृद्धि
अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुताबिक वेनेजुएला में पिछले साल महंगाई दर 9029 फीसदी थी जो मौजूदा समय में बढ़कर एक करोड़ फीसदी हो गई है। इस तरह एक साल में महंगाई में 1100% से अधिक का इजाफा हुआ है। महंगाई के चलते वहां कॉफी की कीमत से अन्य वस्तुओं के दाम तय हो रहे हैं। एक कप कॉफी की कीमत 50 लाख बोलीवर्स है जो भारतीय रुपये में करीब 28,000 रुपये होगी। 

01 करोड़ फीसदी पहुंची महंगाई दर वेनेजुएला में, एक साल में 1100% का इजाफा।

चिकन की कीमत करोड़ों में
वेनेजुएला ने अपनी मुद्रा बोलीवर्स का अवमूल्यन किया है। इसके बाद एक लाख बोलीवर्स की कीमत घटकर एक बोलीवर्स रह गई है। ऐसे में दो किलो चिकन खरीदने के लिए करीब 1.20 करोड़ बोलीवर्स खर्च करने पड़ रहे हैं। वहीं चावल और आटा की कीमत भी 50 लाख बोलीवर्स पहुंच गई है।

काम के बदले मांग रहे अंडे-केले
वेनेजुएला में महंगाई का इस कदर हाहाकर मचा हुआ है कि वहां काम के बदले लोग पैसे की बजाय खाने का सामान मांग रहे हैं। वहां बाल काटने के बदले में अंडा और केले मांगे जा रहे हैं। अंडा भी सस्ता नहीं है और एक अंडे की कीमत करीब एक लाख बोलीवर्स यानी 558 रुपये है। 

शॉक थेरेपी से सुधरेंगे हालात
अर्थशास्त्री वेनेजुएला को आर्थिक संकट से उबारने के लिए शॉप थेरेपी देने का सुझाव दे रहे हैं। हालांकि, यह मेडिकल साइंस की शॉक थेरेपी से अलग है।अर्थव्यवस्था में शॉक थेरेपी का मतलब है बाजार पर सरकार का नियंत्रण कम करना,सरकारी खर्च में कमी, टैक्स में इजाफा, विदेशी निवेश को आसान बनाना और अलोकप्रिय नेतृत्व का सत्ता से हटना आदि है।

ऐसे कंगाल हुआ वेनेजुएला
वेनेजुएला में दुनिया का सबसे बड़ा तेल भंडार है। उसकी कुल सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 95 फीसदी योगदान तेल निर्यात से कमाई का है। कच्चे तेल की कीमत जब 150 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंचने के बाद 25 डॉलर प्रति बैरल तक नीचे आने से कमाई में तेज गिरावट आई। वहीं तेल उत्पादन भी गिरकर एक तिहाई रह गया है।

04 लाख रुपये में हो रही जूते की मरम्मत
01 एक कप कॉफी कर रही मुद्रा का काम

राष्ट्रपति निकोलस के खिलाफ लोगों में काफी आक्रोश
वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादूरो के खिलाफ वहां लोगों में काफी आक्रोश है। विपक्ष के नेता गुइदो वहां सबसे बड़े नेता बनकर उभरे हैं। अमेरिका समेत कई देशों ने उन्हें राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दी है। विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष वेनेजुएला की आर्थिक मदद को तैयार हैं। लेकिन सरकार के मुखिया को लेकर असमंजस है। वहीं मादूरो का कहना है कि उन्हें किसी की भीख नहीं चाहिए।

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

COVID-19 : प्रियंका गांधी ने कोरोना के आंकड़ों पर योगी सरकार को घेरा 

कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कोरोना को लेकर सरकार के...

Success Mantra: जल्द कामयाबी हासिल करने के लिए अपनाएं सफलता के ये 5 मंत्र

Success Mantra:जीवन में हर व्यक्ति जल्द से जल्द कामयाबी की सीढ़ी चढ़कर सफलता का स्वाद चखना चाहता है। लेकिन सफल होने के लिए...

अमेरिका ने चीन की 33 कंपनियों को किया ब्लैकलिस्ट, ड्रैगन भी कर सकता है जवाबी कार्रवाई

दुनिया की दो महाशक्तियों चीन और अमेरिका के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। अमेरिका ने 33 चाइनीज कंपनियों और संस्थाओं को ट्रेड...