26 C
Mumbai
Thursday, August 6, 2020

‘कन्यादान ने की सामाजिक ताने-बाने पर चोट, झलका अंर्तद्वंद्व

विज्ञापन
Loading...

Must read

अच्छी खबर! अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना अब बिहार के सभी जिलों में

‘अपनी क्यारी- अपनी थाली’ योजना राज्य के चार जिलों में कोरोना से जंग में कामयाब रही तो अब सरकार उसके विस्तार की योजना...

कोविड-19 के गंभीर रूप से बीमार मरीजों के इलाज में कारगर साबित हुई नई दवा आरएलएफ-100

अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में एक अस्पताल के डॉक्टरों ने आरएलएफ-100 नाम की नई दवा का इस्तेमाल किया है, जिससे गंभीर रूप से बीमार...

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण धमाके में यूपी की पत्रकार भी घायल

मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई...

इमरान खान को करारा झटका: UNSC ने फिर कहा- द्विपक्षीय तरीके से हल करें कश्मीर मुद्दा

कश्मीर घाटी का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की पाकिस्तान की कोशिशों को बुधवार को एक और करारा झटका लगा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

बुद्धा गार्डन में भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) के पांचवें नाट्य समारोह रंगोत्सव 2019 के दूसरे दिन के कार्यक्रम का उद्घाटन इप्टा के अध्यक्ष केपी सिंह ने किया। इसके बाद धम्मदीप सिंह ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इप्टा रंगकर्मियों ने ‘तू जिंदा है तू जिन्दगी की जीत में यकीन कर … जनगीत गाकर समारोह शुरू किया। पहला नाटक सहारनपुर का ‘कन्यादान रहा, जिसका निर्देशन काशिफ नून सिद्दीकी ने किया।

नाटक में दिखाया कि हमारे यहां मान्यता प्राप्त वेचारिक धारणा और कठोर यथार्थ के बीच नए सिरे से उभरते प्राण लेवा संघर्ष और उसकी प्रवृत्तियों का है। नाटक की शुरुआत सामाजिक कार्यकर्ता और विधायक के परिवार में एक कशमकश से होती है जहां उनकी बेटी ज्योति को एक दलित युवक से प्रेम हो जाता है। वह शादी का प्रस्ताव परिवार के सामने रखती है, यदुनाथ उसको स्वीकार कर लेता है जबकि पत्नी सेवा को यह पसंद नहीं आता जो कि सामाजिक कार्यकर्ता है।

दो विचारधाराओं के बीच अंर्तद्वंद्व शुरु हो जाता है और सेवा दलित युवक से बेटी की शादी होने के खिलाफ खड़ी हो जाती है मगर ज्योति पिता के आदर्शों पर चलते हुए अरुण से शादी कर लेती है। शादी के बाद अरुण, ज्योति का मानसिक और शारीरिक रूप से शोषण करने लगता है। उसके मन में जाति भेद आ जाता है ओर अन्त में ज्योति पिता को उनके खोखले आदर्शवाद की सच्चाई बताकर हमेशा के लिए अरुण के घर चली जाती है।

समारोह की दूसरी प्रस्तुति अक्स अबोहर पंजाब इंतजार नाटक की रही। इसका निर्देशन दीपक काम्बोज ने किया। नाटक में दिखाया गया कि पेट और पैसे की भूख की खातिर इनसार किस हद तक गिर जाता है। एक अपंग लड़का अपनी बहन के सपने पूरे करने के लिए अपने आपको दांव पर लगा देता है और वही बहन केवल अपने भाई की खातिर ही सपने देखती है। नाटक में मुख्य भूमिका में दीपक काम्बोज, अमरदीप शेरगिल, अरावनी, बेबी संध्या, प्रशान्त, संदीप वर्मा, मंगत वर्मा आदि रहे।

समारोह की अंतिम प्रस्तुति देहरादून के किरदार थिएटर ग्रुप की ‘मध्यान्तर रही, जिसका निर्देशन राहुल त्रिपाठी ने किया। नाटक की कहानी पति-पत्नी के संबंधों के बीच दिखाई गई। इसमें पति का एक्सीडेंट हो जाने के बाद वह अपनी पत्नी को बच्चे का सुख नहीं दे पाता। अपनी पत्नी को खुश देखने के लिए वह चाहता है कि उसकी पत्नी उसके दोस्त से शादी कर ले और खुश रहे। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि सुरेंद्र कौशिक, केके शर्मा, विजय भोला, निर्णायक मंडल में संजीव मलिक, वीके डोभाल रहे। इप्टा मेरठ के संरक्षक दीपक मित्तल, अध्यक्ष केपी सिंह, उपाध्यक्ष आलोक अग्रवाल, शान्ति वर्मा, अनुज शर्मा, संदीप गुप्ता, धीरज आहूजा, अवनि वर्मा, हरीश वर्मा, श्याम सिंह, आरपी सिंह आदि मौजूद रहे। उपाध्यक्ष शान्ति वर्मा ने बताया कि रंगोत्सव 14 अक्तूबर तक चलेगा। मंच संचालन धीरज आहूजा, अनुज शर्मा व अवनि वर्मा ने किया। धीरज कुमार, किशन कुमार, वसीम खां, विकास, आयुष, मानव, शिवम, राहुल, विभू, शोभित, मयंक का विशेष सहयोग रहा।

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

अच्छी खबर! अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना अब बिहार के सभी जिलों में

‘अपनी क्यारी- अपनी थाली’ योजना राज्य के चार जिलों में कोरोना से जंग में कामयाब रही तो अब सरकार उसके विस्तार की योजना...

कोविड-19 के गंभीर रूप से बीमार मरीजों के इलाज में कारगर साबित हुई नई दवा आरएलएफ-100

अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में एक अस्पताल के डॉक्टरों ने आरएलएफ-100 नाम की नई दवा का इस्तेमाल किया है, जिससे गंभीर रूप से बीमार...

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण धमाके में यूपी की पत्रकार भी घायल

मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई...

इमरान खान को करारा झटका: UNSC ने फिर कहा- द्विपक्षीय तरीके से हल करें कश्मीर मुद्दा

कश्मीर घाटी का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की पाकिस्तान की कोशिशों को बुधवार को एक और करारा झटका लगा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने...

लॉकडाउन के बाद बढ़ गया बोझ, रोजाना 48 मिनट ज्यादा काम कर रहे लोग

लॉकडाउन के कारण आई आर्थिक चिंताओं ने लोगों पर काम का बोझ बढ़ा दिया। हार्वर्ड और एनवाईयू संस्थानों के विशेषज्ञों ने अपने अध्ययन...