loading...

वार्षिक राशिफल 2020: यह साल कैसा रहेगा, यह जानने के लिए हम सबकी उत्सुकता बनी हुई है। इसके लिए हमने ज्योतिष, अंक ज्योतिष और लाल किताब के वरिष्ठ विशेषज्ञों से आपका भविष्य जानने की कोशिश की है। साथ ही कुछ जाने-माने खिलाड़ियों व फिल्म कलाकारों के बारे में भी ये जाना कि नये साल में वे क्या करने जा रहे हैं। कल आपने मेष से कन्या राशि तक अपना भविष्य जाना, शेष राशियों का भविष्य आज देखें.

तुला (23 सितंबर-23 अक्टूबर)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे, परंतु 8 फरवरी तक वाणी में कठोरता का प्रभाव भी रहेगा। 25 जनवरी से पिता को स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं। भवन सुख में वृद्धि होगी। सुख-सुविधाओं का विस्तार भी हो सकता है, परंतु स्वास्थ्य विकार बढ़ सकते हैं। विशेष रूप से खान-पान के प्रति सचेत रहें। 30 मार्च से पिता के स्वास्थ्य में सुधार होना प्रारंभ होगा, लेकिन कारोबार में व्यवधान आ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों के परिणाम असंतोषजनक हो सकते हैं। 1 जुलाई से 14 सितंबर के मध्य कार्यक्षेत्र में विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। 24 सितंबर के बाद नौकरी में स्थान परिवर्तन के आसार बनेंगे। परिवार का साथ मिलेगा। वर्ष के आखिर में किसी बुजुर्ग महिला से धन प्राप्ति हो सकती है।

क्या करें-
-प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन यथाशक्ति पीले कपड़े में चने की दाल बांध कर मंदिर के पुजारी को दान करें।
-शनिवार के दिन प्रात: शिवलिंग पर जटा के सहित पानी वाला नारियल (ब्राउन रंग का) चढ़ाएं।
-मंगलवार के दिन रोटी में गुड़ रखकर गाय को खिलाएं।

लाल किताब के उपाय-
-सोते समय अपना सिर पूर्व दिशा में रखें।
-अपने शयनकक्ष में सेंधा नमक रखें।
-योग और ध्यान का नियमित अभ्यास करें।
-चतुर्थी का व्रत रखें।
-मन्दिर जाकर अपनी गलतियों की माफी मांगें।

वृश्चिक (24 अक्टूबर-21 नवंबर)
वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परंतु धैर्यशीलता में कमी भी हो सकती है। 25 जनवरी से आपकी राशि से शनि की साढ़े साती समाप्त हो रही है। कारोबार का विस्तार होगा। कोई नया कारोबार भी प्रारंभ हो सकता है। यात्रा अधिक रहेंगी। खर्चों में वृद्धि होगी। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। दैनिक जीवन अव्यवस्थित रहेगा। 30 मार्च से परिवार में खुशियां आएंगी। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। आय में सुधार होगा। इस वर्ष वाहन सुख प्राप्ति के योग भी बन रहे हैं। वस्त्रों आदि पर खर्च बढ़ेंगे। 12 मई से 30 सितंबर का समय कठिनाईपूर्ण रहेगा। पारिवारिक समस्याएं पुन: परेशान कर सकती हैं। चिंताएं बढ़ सकती हैं। 24 सितंबर के बाद नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं।

क्या करें-
-शनिवार के दिन एक ब्राउन रंग का पानी वाला नारियल जटा के साथ शिवलिंग पर चढ़ाएं।
-प्रत्येक बुधवार के दिन गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाएं।
-शुक्रवार के दिन सफेद कपड़े में चावल बांधकर दान करें।

लाल किताब के उपाय-
-मांसाहार का सेवन न करें।
-ससुराल पक्ष से सम्बन्धों को न बिगाड़ें।
-यथासंभव किसी से कुछ भी मुफ्त में न लें।
-माथे पर हल्दी का तिलक लगाएं।
-हरे रंग के कपड़े न पहनें।
-गणपति मंदिर में ऊनी कबंल भेंट चढ़ाएं।

धनु (22 नवंबर-21 दिसंबर)
वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। 24 जनवरी के बाद धन की स्थिति में सुधार होगा। 30 मार्च के उपरांत नौकरी में स्थान परिवर्तन के योग बन रहे हैं। 2 फरवरी से धैर्यशीलता में कमी रहेगी। परिवार में आपसी मतभेद हो सकते हैं। परिवार की समस्याएं परेशान कर सकती हैं। 16 मई से मन में नकारात्मकता का प्रभाव रहेगा, परंतु परिवार में शांति रहेगी। 17 अगस्त से 19 अक्तूबर के मध्य नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। संतान की ओर से सुखद समाचार मिलेंगे। 24 सितंबर के उपरांत कुछ पुराने मित्रों से पुन: संपर्क हो सकते हैं, परंतु स्वास्थ्य के प्रति सचेत भी रहना चाहिए।

क्या करें-
-बृहस्पतिवार के दिन गाय को 3 केले या 3 बेसन के लड्डू खिलाएं तथा प्रतिदिन ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौ स: गुरुवे नम:’ मंत्र की एक माला जपें।
-शनिवार के दिन शाम को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का *दीपक जलाएं।
-शुक्रवार के दिन चावलों की खीर पक्षियों को खिलाएं।

लाल किताब के उपाय-
-यथासम्भव नीले रंग के वस्त्र धारण न करें।
-शुद्ध चांदी की चेन धारण करें।
-भाइयों से सम्बन्ध न बिगाड़ें।
-सूर्यास्त के समय किसी मन्दिर में मीठा प्रसाद चढ़ायें।
-घर में जंग लगा चाकू /कैंची न रखें।

मकर (22 दिसंबर-19 जनवरी)
शनि की साढ़े साती आपकी राशि पर चल रही है। इस वर्ष भी साढ़े साती का प्रभाव रहेगा। 25 जनवरी को शनि मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इससे मानसिक कठिनाइयों में कमी आएगी, परंतु नौकरी में परिवर्तन हो सकता है। कार्यक्षेत्र में भी परिवर्तन संभव है। पारिवारिक समस्याएं परेशान कर सकती हैं। 8 फरवरी के बाद स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। कार्यक्षेत्र में परिश्रम अधिक रहेगा। 30 मार्च के बाद पारिवारिक समस्याओं से निजात मिल सकती है। शैक्षिक कार्यों में सुधार आएगा। 1 जुलाई के बाद भौतिक सुखों में वृद्धि होगी। घर-परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। कार्यक्षेत्र में विपरीत परिस्थितियां रहेंगी। कारोबार में कठिनाइयां आ सकती हैं। 21 नवंबर के बाद परिस्थितियों में सुधार आएगा। वर्ष के अंत में भवन या सम्पत्ति का लाभ हो सकता है।

क्या करें-
-प्रतिदिन एक माल ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनये नम:’ मंत्र की जपें।
-शनिवार के दिन शाम के समय पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
-बृहस्पतिवार के दिन बेसन *का मीठा परांठा बनाकर गाय को खिलाएं।

लाल किताब के उपाय-
-मछलियों को आटे की गोलियां डालें।
-घर में यदाकदा गुग्गुल का धुंआ करें।
-बंदरों को गुड़-चना खिलायें।
-प्रत्येक गुरुवार केले की जड़ में थोड़ा सा जल डालें।
-रोटी बनाते समय गर्म तवे पर पानी के छींटे डालें।

कुम्भ (20 जनवरी-18 फरवरी)
25 जनवरी से आपकी राशि पर शनि की साढ़े साती प्रारंभ हो जाएगी। खर्चों की अधिकता रहेगी। मानसिक परेशानियां रहेंगी। संचित धन में कमी भी आ सकती है। 2 फरवरी से स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। 30 मार्च के उपरांत खर्चों में कमी आएगी। घर-परिवार में धार्मिक/मांगलिक कार्य हो सकते हैं। भवन के रख-रखाव व सौंदर्यकरण के कार्यों पर खर्च बढ़ सकते हैं। 1 जुलाई से आय की स्थिति में सुधार होगा। धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। 17 अगस्त के बाद कारोबार में वृद्धि के योग बन रहे हैं। शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। वाहन की प्राप्ति हो सकती है। 24 सितंबर के बाद से माता को स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं। दिसंबर महीने में माता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। दिनचर्या व्यवस्थित बनेगी।

क्या करें-
-प्रतिदिन प्रात: यह मंत्र- ‘ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगधिं पुष्टिवर्द्धनम् उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्’ रुद्राक्ष की माला पर जपा करें।
-बुधवार के दिन गाय को हरी सब्जी या हरा चारा खिलाएं।
-हर बृहस्पतिवार को एक मुट्टी चने की दाल डिब्बे में डालें। इकट्ठा होने पर मंदिर के पुजारी को दे दिया करें।

लाल किताब के उपाय-
-महत्वपूर्ण कार्य पर जाने से पहले नाक साफ करके जाएं।
-माथे पर केसर जल का तिलक लगाएं।
-पीली बनियान धारण करें।
-मन्दिर में काली उड़द साबुत अर्पण करें।
-घर से जाले हटाएं।
-ध्यान रखें कि नल व्यर्थ न बहें।

मीन (19 फरवरी-20 मार्च)
वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। परिवार में सुख-शांति रहेगी। 25 जनवरी के बाद आय में वृद्धि होगी, परंतु शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आ सकती है। 2 फरवरी से धैर्यशीलता में कमी आएगी। 30 मार्च से शैक्षिक कार्यों में सुधार आएगा। लेखनादि बौद्धिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ सकती है। 12 मई से नौकरी में कठिनाइयां आ सकती हैं। 30 सितंबर के बाद सुधार होगा। विदेश यात्रा के अवसर मिल सकते हैं। धार्मिक कार्यों व पूजा-पाठ में व्यवधान आ सकते हैं। 21 नवंबर बाद कार्यक्षेत्र में वृद्धि हो सकती है। अनुकूल परिस्थितियां रहेंगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। संतान की ओर से सुखद समाचार मिलेंगे। वर्ष के अंत में किसी मित्र के सहयोग से कारोबार का प्रस्ताव मिल सकता है। आय में वृद्धि होगी।

क्या करें-
-सवा पांच रत्ती का पुखराज सोने की अंगूठी में जड़वाकर दाहिने हाथ की तर्जनी उंगली में धारण करें।
-प्रतिदिन प्रात: स्नान के बाद ‘आदित्य हृदय स्तोत्र’ का पाठ करके, तांबे के लोटे में जल भर कर उसमें थोड़े से चावल, चीनी या गुड़ तथा रोली डालकर जल की धार बना कर सूर्यदेव की तरफ मुंह करके जल अर्पित करें।

लाल किताब के उपाय-
-स्नानोपरांत उगते सूरज को जल अर्पण करें।
-लाल रंग का रूमाल अपने पास रखें।
-प्रत्येक शनिवार दशरथकृत शनि स्तोत्र का पाठ करें।
-सुबह हरी घास पर पानी डालें।
-शराब का सेवन न करें।
-गुलाब की महक वाली अगरबत्ती जलाएं।

loading...