24 C
Mumbai
Sunday, December 6, 2020

घर में कुत्ते के अलावा नहीं था और कोई, पैरालिसिस अटैक के चलते मालिक गिरा फर्श पर तो पालतू ने किया…

Must read

एमएलसी चुनाव में जीत मिलने पर सपाईयो ने मनाया जश्न

ज्ञानपुर। समाजवादी पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओ ने शनिवार को नगर के दुर्गागंज तिराहे पर नारेबाजी करते हुये एक दूसरे को मिठाई खिलालकर जीत...

अनियंत्रित कार गड्ढे में गिरी चार घायल

मोढ़। भदोही दुर्गागंज मार्ग पर मोढ़ बाजार में पूर्वी त्रिमूहानी के पास शुक्रवार की रात करीब 11 बजे गाड़ी नंबर भ्त्51ठळ1888 अनियंत्रित कार टकराकर...

सरकार की गलत नीतियों को शिक्षित वर्ग ने नकाराए विकास सपा जिलाध्यक्ष ने एमएलसी चुनाव में ऐतिहासिक जीत पर जताया आभार कहा किसानों के...

भदोही। विधान परिषद परिक्षेत्र वाराणसी में शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव में दोनों सीटों पर समाजवादी पार्टी की हुई ऐतिहासिक जीत पर समाजवादी पार्टी...

एमएलसी चुनाव में जीत मिलने पर सपाईयो ने मनाया जश्न

ज्ञानपुर। समाजवादी पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओ ने शनिवार को नगर के दुर्गागंज तिराहे पर नारेबाजी करते हुये एक दूसरे को मिठाई खिलालकर जीत...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

नई दिल्ली। कुत्ते वफादार होते हैं। मालिक के लिए ये कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। किसी भी परिस्थिति में ये अपने मालिक का साथ नहीं छोड़ते हैं। हाल ही में एक ऐसी घटना देखने को मिली जिससे यह एकबार फिर से साबित हो गया कि वाकई में कुत्ते इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं।

वाक्या पुणे का है। जहां के 65 साल के डॉक्टर रमेश संचेती अपने ब्राउनी नाम के कुत्ते के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी मुंबई, बेटा पुणे के पास बावधन और बेटी अमरीका में रहती है। ऐसे में ब्राउनी ही उनका एकमात्र सहारा है। 23 जनवरी के दिन करीब 12.30 बजे डॉक्टर साहब आंशिक पैरालिसिस अटैक और माइनर कार्डिक अरेस्ट के चलते फर्श पर गिर गए।

 

डॉक्टर रमेश संचेती

ब्राउनी ने ये सबकुछ होते देखा। उसका व्यवहार थोड़ा असामान्य सा हो गया। उसने पड़ोसी अमित शाह को अलर्ट करने की कोशिश की। दोपहर के वक्त शाह ब्राउनी को खाना खिलाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उसने खाने से इंकार कर दिया। वह बार-बार अपने मालिक डॉक्टर रमेश संचेती के बेडरूम की खिड़की की ओर जाने लगा।

ब्राउनी को ऐसा करते देख अमित को थोड़ा सा शक हुआ और उसने अंदर झांककर देखा। डॉक्टर को जमीन पर गिरे हुए देखकर शाह ने उन्हें तुंरत अस्पताल में एडमिट कराया और इस प्रकार उनकी जान बच गई।डॉक्टर और ब्राउनी का रिश्ता बहुत पुराना है। आज से 16 साल पहले उन्होंने ब्राउनी को अडाप्ट किया था। उनके इस पुराने साथी ने ही इस बार उनकी जान बचाई है।

 

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

एमएलसी चुनाव में जीत मिलने पर सपाईयो ने मनाया जश्न

ज्ञानपुर। समाजवादी पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओ ने शनिवार को नगर के दुर्गागंज तिराहे पर नारेबाजी करते हुये एक दूसरे को मिठाई खिलालकर जीत...

अनियंत्रित कार गड्ढे में गिरी चार घायल

मोढ़। भदोही दुर्गागंज मार्ग पर मोढ़ बाजार में पूर्वी त्रिमूहानी के पास शुक्रवार की रात करीब 11 बजे गाड़ी नंबर भ्त्51ठळ1888 अनियंत्रित कार टकराकर...

सरकार की गलत नीतियों को शिक्षित वर्ग ने नकाराए विकास सपा जिलाध्यक्ष ने एमएलसी चुनाव में ऐतिहासिक जीत पर जताया आभार कहा किसानों के...

भदोही। विधान परिषद परिक्षेत्र वाराणसी में शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव में दोनों सीटों पर समाजवादी पार्टी की हुई ऐतिहासिक जीत पर समाजवादी पार्टी...

एमएलसी चुनाव में जीत मिलने पर सपाईयो ने मनाया जश्न

ज्ञानपुर। समाजवादी पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओ ने शनिवार को नगर के दुर्गागंज तिराहे पर नारेबाजी करते हुये एक दूसरे को मिठाई खिलालकर जीत...

कोर्ट के आदेश पर चार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज

कोइरौना। स्थानीय थाना क्षेत्र के कटरा चौकी अंतर्गत स्थित अतिबलशाहपट्टी मवैयाथानसिंह गांव निवासी राजकुमार दुबे पुत्र स्व चौहर्जा प्रसाद दुबे 35 वर्ष के संदेहास्पद...