30 C
Mumbai
Thursday, May 28, 2020
विज्ञापन
Loading...

कोरोना वायरस संक्रमण के बीच इस्लाम के प्रचार-प्रसार में जुटे लोगो की तलाश में पुलिस

विज्ञापन
Loading...

Must read

जोर से बात करने पर हवा में फैल सकता है कोरोनावायरस

एक हालिया शोध के अनुसार, जो लोग जोर-जोर से बात करते हैं उनके मुंह से निकली हजारों बूंदें गायब होने से पहले आठ से...

बॉलीवुड के ‘सिंघम’ ने 700 परिवारों की मदद के लिए बढ़ाया अपना हाथ, लोगों से की दान देने की अपील

देश में कोरोना के खिलाफ जंग में बॉलीवुड सेलेब्स बढ़-चढ़कर काम कर रहे हैं। इन दिनों बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने प्रवासियों मजदूरों...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

कोरोना वायरस संक्रमण के बीच उत्तराखंड के करीब 280 लोग अभी भी देशभर में तब्लीगी जमात में इस्लाम के प्रचार-प्रसार में जुटे हैं. निजामुद्दीन मरकज का मुद्दा गरमाने के बाद पुलिस व खुफिया तंत्र ने प्रदेशभर से जमात में गए लोगों का ये आंकड़ा जुटाया है.चिंताजनक बात ये है कि अभी तक यह पता नहीं लग सका है कि जमात में गए यह लोग वैसे देश के किन-किन राज्यों में हैं.

कोरोना संक्रमण के बीच इस्लाम के प्रचार-प्रसार में लगे हैं जमाती, पता लगाने में जुटा खुफिया तंत्र

निजामुद्दीन मरकज के अतिरिक्त जकार्ता की जमात में शामिल होने का अंदेशा
सोशल डिस्टेंस में लापरवाही से अन्य लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा
निजामुद्दीन के अतिरिक्त जकार्ता में हुई जमात में भी उत्तराखंड के लोगों के शामिल होने की अंदेशा जताया जा रहा है. इन जमातियों का पता लगाकर उन्हें सोशल डिस्टेंस में रखना महत्वपूर्ण है ताकि दूसरे लोगों को संक्रमण से बचाया जा सके. निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात में शामिल लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद देशभर में अफरातफरी का माहौल है.

हर प्रदेश की पुलिस व खुफिया तंत्र जमातियों के बारे में जानकारी जुटाने में लगा है. निजामुद्दीन मरकज में अब तक उत्तराखंड के 26 लोगों के शामिल होने की बात सामने आ चुकी है. खुफिया तंत्र की जाँच पड़ताल में चौंकाने वाली बात सामने आई है कि प्रदेश के 280 लोग अभी जमात में बाहर गए हुए हैं. ये लोग देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, पौड़ी, टिहरी व उत्तरकाशी के बताए गए हैं.

जमाती किन राज्यों में हैं ये पता नहीं

इनमें सबसे ज्यादा संख्या हरिद्वार के जमातियों की है. हालांकि ये अभी साफ नहीं है कि लॉकडाउन के बीच ये जमाती किन राज्यों में हैं. दरअसल, निजामुद्दीन मरकज दुनियाभर के जमातियों का सेंटर है. वहां से ही जमात को देशभर में इस्लाम के प्रचार-प्रसार के लिए भेजा जाता है. जमाती 40 दिन बाद वहीं वापसी दर्ज कराते हैं.

उसके बाद वे अपने घरों को जा पाते हैं. ऐसे में निजामुद्दीन मरकज से सम्पर्क करने के बाद ही पता चल सकेगा कि जमाती इस समय कहां पर हैं. इसके अतिरिक्त 18 मार्च को जकार्ता में हुई जमात में भी उत्तराखंड के कुछ जमातियों के शिरकत करने की बात कही जा रही है.

ऐसे में पुलिस के सामने इन तमाम जमातियों का पता लगाकर उन्हें सोशल डिस्टेंस में रखना चुनौती है. इस विषय में डीजी (अपराध) अशोक कुमार का बोलना है कि पुलिस ऐसे लोगों का पता लगाने में जुटी है. अभी पहले बाहर से आने वाले लोगों को क्वारंटीन कराना है.

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

जोर से बात करने पर हवा में फैल सकता है कोरोनावायरस

एक हालिया शोध के अनुसार, जो लोग जोर-जोर से बात करते हैं उनके मुंह से निकली हजारों बूंदें गायब होने से पहले आठ से...

बॉलीवुड के ‘सिंघम’ ने 700 परिवारों की मदद के लिए बढ़ाया अपना हाथ, लोगों से की दान देने की अपील

देश में कोरोना के खिलाफ जंग में बॉलीवुड सेलेब्स बढ़-चढ़कर काम कर रहे हैं। इन दिनों बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने प्रवासियों मजदूरों...

भारत की नीतियों से परेशान हुए इमरान खान, बताया- पड़ोसियों के लिए खतरा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को आरोप लगाया कि भारत की 'अहंकार से पूर्ण विस्तारवादी नीतियां' उसके पड़ोसियों के लिए खतरा बन...