26.5 C
Mumbai
Wednesday, June 3, 2020
विज्ञापन
Loading...

आप भी करते हैं Zoom App का इस्तेमाल तो हो जाए सावधान, राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा एजेंसी ने जारी किया अलर्ट

विज्ञापन
Loading...

Must read

वन नेशन वन मार्केट की दिशा में हम आगे बढ़े हैं: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में बुधवार को कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि...

कोरोना के खिलाफ साथ आए भारत-अमेरिका, ट्रंप और मोदी के बीच हुई बात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई बातचीत के दौरान बताया कि उनका देश भारत को दान में दिए...

सोनू सूद की तस्वीर मंदिर में रखकर पूजा कर रहे युवक से एक्टर ने की भावुक अपील, देखें वीडियो

फिल्म अभिनेता सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं कि वह अपने घर बिना किसी मुश्किल के पहुंच सके।...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा एजेंसी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप जूम के इस्तेमाल को लेकर साइबर जोखिम के बारे में चेतावनी दी। कोरोना वायरस महामारी के कारण देश में बड़ी संख्या में लोग घर से काम कर रहे हैं। वे इस एप का इस्तेमाल कर रहे हैं।
एजेंसी ने ऑपरेटर और उपयोगकर्ताओं, दोनों के लिए सुरक्षा उपायों को बताते हुए एडवाइजरी जारी की है। साइबर हमलों से निपटने वाली राष्ट्रीय एजेंसी कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम ऑफ इंडिया (सीईआरटी-आईएन) ने कहा कि डिजिटल एप्लिकेशन का सुरक्षा उपायों के बिना उपयोग साइबर हमलों की दृष्टि से जोखिम भरा हो सकता है। इससे साइबर अपराधियों द्वारा कार्यालय की संवेदनशील सूचनाओं को लीक किए जाने का खतरा भी बना रहता है। जूम, माइक्रोसॉफ्ट टीम, सिस्को वेबएक्स जैसे ऑनलाइन संचार मंचों का वीडियो कांफ्रेंसिंग बैठकों के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन ऑनलाइन मंच (जूम) का असुरक्षित उपयोग साइबर अपराधियों को महत्वपूर्ण सूचनाओं और वार्तालाप जैसी संवेदनशील जानकारी तक पहुंचने की अनुमति दे सकता है।
 
मजबूत पासवर्ड बनाएं:
एजेंसी ने जूम से होने वाली बैठकों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कुछ उपाय सुझाए हैं। इनमें जूम साफ्टवेयर को अपडेट रखने को कहा गया है। इसके अलावा सभी बैठकों और वेबिनार्स के लिए हमेशा इतना मजबूत पासवर्ड बनाने को कहा गया है जो इतना मुश्किल हो कि उसका अंदाजा नहीं लगाया जा सके। यह विशेष तौर पर उन बैठकों के लिए जरूरी है जहां संवेदनशील मुद्दे पर चर्चा की जा रही हो।
 

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

वन नेशन वन मार्केट की दिशा में हम आगे बढ़े हैं: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में बुधवार को कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि...

कोरोना के खिलाफ साथ आए भारत-अमेरिका, ट्रंप और मोदी के बीच हुई बात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई बातचीत के दौरान बताया कि उनका देश भारत को दान में दिए...

सोनू सूद की तस्वीर मंदिर में रखकर पूजा कर रहे युवक से एक्टर ने की भावुक अपील, देखें वीडियो

फिल्म अभिनेता सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं कि वह अपने घर बिना किसी मुश्किल के पहुंच सके।...

डोनाल्ड ट्रंप के फेसबुक पोस्ट पर बवाल, जुकरबर्ग ने ऐसे किया बचाव

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा की गई विवादित पोस्ट पर कार्रवाई करने के लिए कंपनी के भीतर नाराजगी बढ़ने के साथ ही फेसबुक के...