30 C
Mumbai
Tuesday, October 20, 2020

दिल्ली के हयात होटल में बंदूक निकालने वाले बीएसपी सांसद के बेटे से पार्टी ने पल्ला झाड़ा

विज्ञापन
Loading...

Must read

नालासोपारा : कोरोना योद्धाओं को कोरोना किट वितरित

नालासोपारा :आज जहां पूरा विश्व कोरोना संकट से जूझ रहा है वहीं पत्रकारों की भूमिका किसी योद्धा से कम नहीं है मार्च महीने से...

गोल्ड लोन के लिए पति ने मांगे गहने तो पत्नी ने दे दी तलाक की धमकी

यूं तो गहनों से महिलाओं को बहुत प्यार होता है, लेकिन गहनों को लेकर बात तलाक तक पहुंच जाए, ऐसा शायद ही कभी...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

दिल्ली के हयात होटल में बंदूक निकालने वाले बीएसपी सांसद के बेटे से पार्टी ने पल्ला झाड़ा

बहुजन समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद के बेटे पर मंगलवार को दिल्ली में हयात रीजेंसी होटल के बाहर मेहमानों पर बंदूक तानने और उन्हें धमकी देने के
लिए केस दर्ज कर लिया गया. उधर पार्टी ने इस घटना से खुद को दूर कर लिया है. वरिष्ठ बीएसपी नेता सुधींद्र भदोरिया ने कहा कि आरोपी, आशीष पांडे,
न तो पार्टी का नेता हैं और न ही बीएसपी का सदस्य है. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं तेज हो गईं.

भदोरिया ने कहा- ‘वह चाहे जो भी है. उचित जांच होनी चाहिए और कार्रवाई की जानी चाहिए. इस घटना का बीएसपी के साथ कोई संबंध नहीं है. वह न
तो नेता है और न ही बीएसपी का सदस्य है.’

घटना रविवार तड़के दिल्ली के आरके पुरम स्थित हयात होटल में हुई थी. दिल्ली पुलिस ने लखनऊ के रहने वाले आशीष पांडे के खिलाफ लुक आउट
नोटिस जारी किया था. आरोपी आशीष पांडे का भाई रितेश पांडे उत्तर प्रदेश विधानसभा में विधायक है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि आर्म्स एक्ट और
विभिन्न आईपीसी तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

विवाद क्यों हुआ:

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबक होटल के सुरक्षा कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि आरोपी और पीड़ित होटल के नाइट क्लब में पार्टी कर रहे थे. दोनों ही
पक्षों के बीच वाशरूम का इस्तेमाल करने के लिए बहस शुरु हुई. घटना के वक्त पीड़ित और आरोपी पक्ष दोनों ही शराब के नशे में थे. आरोपी के साथ आई
एक महिला ने पीड़ितों से दुर्व्यवहार किया और उन्हें ‘ट्रांसजेंडर’ कहा. इसी पर बात बढ़ गई और यहां तक आ पहुंची.

पुलिस के अनुसार आरोपी के पास बंदूक का लाइसेंस है या नहीं यह उसकी गिरफ्तारी के बाद ही पता चलेगा. शुरु में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज
किया गया था और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के खंड बाद में घटना की शिकायत दर्ज होने के बाद जोड़े गए. हालांकि घटना की शिकायत भी तब दर्ज
कराई गई जब वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने होटल से संपर्क किया. होटल के सहायक सुरक्षा प्रबंधक ने सोमवार को शिकायत दर्ज कराई.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (नई दिल्ली) अजय चौधरी ने कहा कि यह घटना 14 अक्टूबर को 3.40 बजे तड़के हुई थी. ‘उस दिन न तो पीड़ित और न ही होटल
के कर्मचारियों द्वारा कोई शिकायत दर्ज कराई गई.’ उन्होंने कहा कि तीनों पक्षों – पीड़ित, होटल अधिकारियों और आरोपी की तरफ से लापरवाही बरती गई
है.

हयात रीजेंसी ने जांच में सहयोग का आश्वासन दिया:

होटल के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि वे पुलिस के साथ पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं और घटना को गंभीरता से ले रहे हैं. होटल ने आज जारी
एक बयान में कहा, ‘दिल्ली के हयात रीजेंसी में हुई इस घटना को हम पूरी गंभीरता से ले रहै हैं और स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ काम कर रहे हैं.’

पीड़ित ने क्या कहा:

एक टीवी चैनल द्वारा संपर्क करने पर एक पीड़ित ने कहा कि ‘आरोपी बंदूक लेकर उनकी तरफ आया और उन्हें गालियां देने लगा. होटल के लोग वहां थे
और उन्होंने बीच बचाव करने की कोशिश की. लेकिन वो भी ज्यादा कुछ कर नहीं पाए क्योंकि वो भी डरे हुए थे.’

राजनीति तेज:

आम आदमी पार्टी ने इस घटना पर केंद्र को घेर लिया और कहा कि दिल्ली पुलिस को नियंत्रित करने वाली केंद्र सरकार शहर में कानून व्यवस्था को बनाए
रखने में पूरी तरह विफल रही है.

brawl

बीजेपी दिल्ली इकाई के प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि घटना में उचित जांच की जानी चाहिए. सीसीटीवी फुटेज के रूप में घटना के सबूत मौजूद हैं. गृह
राज्य मंत्री किरेन रिजजू ने कहा कि पुलिस ने मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि- ‘दिल्ली पुलिस ने इस घटना पर कार्रवाई शुरू कर
दी है. आर्म्स एक्ट और आईपीसी के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. मजबूत और उचित कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही दूसरे लोगों की पहचान की
जा रही है.’

वहीं कांग्रेस नेता और सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने घटना के बाद शहर में कानून और व्यवस्था की स्थिति पर भी गंभीर चिंता व्यक्त की है.
उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि, ‘मैं अपने बच्चों और हमारे शहर के लोगों की सुरक्षा के लिए बहुत डरा हुआ हूं.’

उधर पीड़ित के पिता कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक कंवर करन सिंह ने कहा है कि बीएसपी सांसद द्वारा बंदूक दिखाए जाने की वजह से उनका बेटा बहुत
डर गया था इसलिए पुलिस के पास शिकायत लेकर नहीं गया.

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

नालासोपारा : कोरोना योद्धाओं को कोरोना किट वितरित

नालासोपारा :आज जहां पूरा विश्व कोरोना संकट से जूझ रहा है वहीं पत्रकारों की भूमिका किसी योद्धा से कम नहीं है मार्च महीने से...

गोल्ड लोन के लिए पति ने मांगे गहने तो पत्नी ने दे दी तलाक की धमकी

यूं तो गहनों से महिलाओं को बहुत प्यार होता है, लेकिन गहनों को लेकर बात तलाक तक पहुंच जाए, ऐसा शायद ही कभी...