30 C
Mumbai
Sunday, September 20, 2020

अच्छी खबर! अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना अब बिहार के सभी जिलों में

विज्ञापन
Loading...

Must read

FATF की लटकी तलवार, फिर भी 21 आतंकियों को VIP ट्रीटमेंट दे रही पाकिस्तान सरकार 

पाकिस्तान की गर्दन पर फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तलवार लटके होने के बावजूद पड़ोसी मुल्क आतंकवादियों को पालने-पोसने और उन्हें सरकारी मेहमान...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

‘अपनी क्यारी- अपनी थाली’ योजना राज्य के चार जिलों में कोरोना से जंग में कामयाब रही तो अब सरकार उसके विस्तार की योजना बना रही है। इस योजना का विस्तार राज्य के सभी जिलों में 23 हजार उन आंगनबाड़ी केन्द्रों में होगा जहां केन्द्र के परिसर में जमीन उपलब्ध है।

आईसीडीएस ने योजना के लिए जमीन के रकबे के अनुसार खेती का मॉडल तैयार करने की जिम्मेवारी बिहार कृषि विश्वविद्यालय को दी है। विश्वविद्यालय ने मॉडल तैयार कर लिया है अब सेविकाओं और सहायिकाओं को खेती का गुर सिखाया जाएगा। यह काम भी विश्वविद्यालय का प्रसार शिक्षा संभाग ऑनलाइन करेगा।

दरअसल योजना शुरू हुई तो चार जिलों में आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चे भी मशरूम जैसी पौस्टिक सब्जी खाने लगे। उन्हें टेकहोम राशन में भी मशरूम दिया जाता है। बिहार कृषि विश्वविद्यालय के सौजन्य से आईसीडीएस की यह योजना कुपोषण दूर करने का मूल मंत्र बन गई है। धातृ महिलाओं को भी आसपास की उपजी सब्जियां दी जाती हैं।
 
खास बात यह है कि पोषक तत्वों वाली इन सब्जियों को उत्पादन भी आंगनबाड़ी केन्द्रों में ही होता है। सब्जी के साथ कुपोषण दूर करने के तरीके आश्रै उससे होने वाली हानि की जानकारी भी दी जाती है। किसान रेडियो के माध्यम से भी इसके लाभ की जानकारी प्रसारित की जाती है।
   
योजना अभी चार जिलों में चल रही है। पटना में उत्पादन नहीं होता है। यहां की महिलाओं और बच्चों को किसान रेडिया के माध्यम से जागरूक किया जाता है। खगड़िया के 40, नालंदा के 25 और पूर्णिया के 50 केन्द्रों में सब्जियों का उत्पादन होता है अब 23 हजार केन्द्रों में अलग-अलग मॉडल की खेती होगी। 

योजना का आंकड़ा 
115 केन्द्रों पर सब्जी उत्पादन 
23 हजार केन्द्रों में होगा विस्तार
38 जिलों में चलेगी योजना 
20 मॉडल तैयार किया है बीएयू ने 

सरकार ना सिर्फ पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ की व्यवस्था कर रही है बल्कि कुपोषण से होने वाली परेशानियों की जानकारी भी लोगों को दी जा रही है। बाढ़ के कम्यूनिटी रेडियो स्टेशन से वैज्ञानिकों के सुझाव और कुपोषित बच्चों के लिए माताओं को क्या करना चाहिए, इसकी जानकारी भी दी जा रही है। – डा. आरके सोहाने, प्रसार शिक्षा निदेशक बीएयू
 

विज्ञापन
Loading...

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

FATF की लटकी तलवार, फिर भी 21 आतंकियों को VIP ट्रीटमेंट दे रही पाकिस्तान सरकार 

पाकिस्तान की गर्दन पर फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तलवार लटके होने के बावजूद पड़ोसी मुल्क आतंकवादियों को पालने-पोसने और उन्हें सरकारी मेहमान...

पूर्व पार्षद की शिकायत लेकर पहुंचा थाने NRI तो पहले उतरवाए कपड़े और फिर…

var w=window;if(w.performance||w.mozPerformance||w.msPerformance||w.webkitPerformance){var d=document;AKSB=w.AKSB||{},AKSB.q=AKSB.q||,AKSB.mark=AKSB.mark||function(e,_){AKSB.q.push()},AKSB.measure=AKSB.measure||function(e,_,t){AKSB.q.push()},AKSB.done=AKSB.done||function(e){AKSB.q.push()},AKSB.mark("firstbyte",(new Date).getTime()),AKSB.prof={custid:"73504",ustr:"",originlat:"0",clientrtt:"14",ghostip:"23.50.232.116",ipv6:false,pct:"10",clientip:"34.87.12.128",requestid:"337f66e9",region:"23331",protocol:"",blver:14,akM:"a",akN:"ae",akTT:"O",akTX:"1",akTI:"337f66e9",ai:"262225",ra:"false",pmgn:"",pmgi:"",pmp:"",qc:""},function(e){var _=d.createElement("script");_.async="async",_.src=e;var t=d.getElementsByTagName("script"),t=t;t.parentNode.insertBefore(_,t)}(("https:"===d.location.protocol?"https:":"http:")+"//ds-aksb-a.akamaihd.net/aksb.min.js")}मध्य प्रदेश के इंदौर स्थित तेजाजी नगर थाने में एक एनआरआई के साथ अभद्रता करने का मामला सामने...