Global Statistics

All countries
198,905,983
Confirmed
Updated on August 1, 2021 8:15 pm
All countries
177,806,070
Recovered
Updated on August 1, 2021 8:15 pm
All countries
4,238,566
Deaths
Updated on August 1, 2021 8:15 pm

Global Statistics

All countries
198,905,983
Confirmed
Updated on August 1, 2021 8:15 pm
All countries
177,806,070
Recovered
Updated on August 1, 2021 8:15 pm
All countries
4,238,566
Deaths
Updated on August 1, 2021 8:15 pm

अंडमान और निकोबार में कोरोना के केवल एक केस

अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में कोविड-19 का केवल एक नया मामला सामने आने के बाद केन्द्र शासित प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7,492 हो गई. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि संक्रमितों के सम्पर्क में आए लोगों की पहचान के क्रम में यह एक मामला सामने आया. पिछले 24 घंटे में संक्रमण से मौत का कोई नया मामला सामने नहीं आया और मृतक संख्या 128 है. केन्द्र शासित प्रदेश में अभी 13 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है और कुल 7,351 लोग अभी तक संक्रमण मुक्त हो चुके हैं

अभी तक प्रशासन ने कुल 4,16,815 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की है और नमूनों के संक्रमित आने की दर 1.80 प्रतिशत है. अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में अभी तक 2,12,003 लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है, जिनमें से 1,61,602 लोगों को पहली और 50,401 लोगों को दूसरी खुराक दी गई है.

वहीं देशभहर में कोरोना की स्थिति की बात करें तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार सुबह को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 43,393 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 911 लोगों ने जान गंवाई है. इस वक्त देश में 4,58,727 एक्टिव केस मौजूद हैं, जो कि अब तक सामने आए कुल मामलों का 1.49% फीसदी है.

अब तक देश में 2,98,88,284 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं, वहीं पिछले 24 घंटों के भीतर 44,459 मरीज रिकवर हुए हैं. कोरोना का रिकवरी रेट 97.19% फीसदी दर्ज किया गया है. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 8 जुलाई 2021 तक कोरोना के लिए 42,70,16,605 सैंपल्स का टेस्ट किया गया है, इनमें से कल 17,90,708 सैंपल की टेस्टिंग हुई है.

देशभर में ऑक्सीजन की उपलब्धता का जायज़ा लेंगे पीएम : वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर में ऑक्सीजन की वृद्धि और उपलब्धता की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करेंगे. दरअसल देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान कई राज्यों में मेडिकल ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो गई थी. कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि सितंबर-अक्टूबर तक देश में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारें पहले से ही ऑक्सीजन और मेडिकल सुविधाओं के इंतजाम पुख्ता रखने के प्रयास कर रही हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles