Global Statistics

All countries
197,920,220
Confirmed
Updated on July 30, 2021 10:48 pm
All countries
177,138,823
Recovered
Updated on July 30, 2021 10:48 pm
All countries
4,222,642
Deaths
Updated on July 30, 2021 10:48 pm

Global Statistics

All countries
197,920,220
Confirmed
Updated on July 30, 2021 10:48 pm
All countries
177,138,823
Recovered
Updated on July 30, 2021 10:48 pm
All countries
4,222,642
Deaths
Updated on July 30, 2021 10:48 pm

कार्पेट एक्सपो मार्ट में आयोजित हो कालीन मेलाः यादवेंद्र, भदोही में कार्पेट एक्सपो के आयोजन से उद्योग को बढ़ावा देने में मिलेगी मदद

भदोही। वरिष्ठ कालीन निर्यातक व अखिल भारतीय कालीन प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईसीटी) के प्रबंध कार्यकारिणी समिति के सदस्य यादवेंद्र राय उर्फ काका ने बताया कि लगभग एक साल से देश में कोरोना का संक्रमण चल रहा है। कोविड के कारण कालीन उद्योग पर इसका व्यापक असर पड़ा। उद्योग को करोड़ों रुपए के निर्यात का चपत लगा।

उन्होंने कहा कि कोविड के कारण विदेशों सहित देश में आयोजित होने वाले दो इंडिया कार्पेट एक्सपो का भी आयोजन नहीं हो सका। जबकि हकीकत यह है कि आयोजित होने वाले कालीन मेलों से निर्यातकों को काफी अच्छा खासा आर्डर मिल जाता था। क्योंकि एक ही छत के नीचे काफी संख्या में निर्यातकों के साथ ही विभिन्न देशों के आयातकों और उनके भारतीय प्रतिनिधियों का समागम होता है। श्री राम ने कहा कि आयोजित होने वाले कालीन मेले से निर्यातकों को अच्छे और आकर्षक कालीनों को बनाने का अवसर मिलता है।

बाजार में क्या चल रहा और कौन से डिजाइन की कालीन को बनाया जाए ताकि विदेशी आयातक उस पर आकर्षित हो। इस पर ध्यान दिया जाता था। लेकिन कोविड के कारण ऐसा नहीं हो सका। उन्होंने कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) के नए चेयरमैन उमर हमीद को बधाई दी। कहा कि कोरोना के कारण बेपटरी हो चुके कालीन उद्योग को बढ़ावा देने का वह प्रयास करेंगे। ताकि निर्यातक इससे उबर सके। वहीं एक बार फिर कालीन उद्योग पटरी पर आ सके। इसके लिए उन्होंने सीईपीसी चेयरमैन से भदोही के कार्पेट एक्सपो मार्ट में कालीन मेले का आयोजन करने की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles