Global Statistics

All countries
198,846,340
Confirmed
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
177,785,391
Recovered
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
4,238,145
Deaths
Updated on August 1, 2021 5:13 pm

Global Statistics

All countries
198,846,340
Confirmed
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
177,785,391
Recovered
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
4,238,145
Deaths
Updated on August 1, 2021 5:13 pm

दुनिया को अपने कब्जे में करने की चीन की खतरनाक साज़िश: परमाणु हथियारों को जमा करने वाले 100 से अधिक साइलो को बनाने की तैयारी में

चीन (China) अपने इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइलों (Intercontinental ballistic missiles) को स्टोर करने के लिए देश के उत्तर पश्चिम में 100 से अधिक साइलो का निर्माण कर रहा है.

कैसे हो रही है कोशिश : दुनिया को अपनी मुट्ठी में करने का ख्वाब सजाए बैठे चीन (China) ने तेजी से अपने हथियारों में इजाफा करना शुरू कर दिया है. ड्रैगन इन दिनों तेजी से अपनी मिसाइल (Missile) क्षमता को बढ़ाने में जुटा हुआ है. हाल की सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि चीन उत्तर-पश्चिम शहर युमेन (Yumen) के पास एक रेगिस्तान में इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइलों (Intercontinental ballistic missiles) के लिए 100 से अधिक नए साइलों (Silos) को तैयार कर रहा है. साइलो एक तरह का स्टोरेज कंटेनर होता है, जिसमें लंबी दूरी की मिसाइलों (long-range missiles) को रखा जाता है.

इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइलों की रेंज काफी लंबी होती है. ये मिसाइलें एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप में हमला करने में सक्षम होती हैं. इनमें बैलिस्टिक मिसाइलें अपने लॉन्चिंग साइट से उड़ान भरती हैं और अंतरिक्ष में यात्रा करते हुए टार्गेट का सफलतापूर्वक खात्मा कर देती हैं. ये मिसाइलें पारंपरिक और परमाणु हथियारों (Nuclear weapons) से हमला कर सकती हैं. चीन के पास DF-5 और DF-41 जैसी घातक मिसाइलें हैं, जो अमेरिका को मार गिराने में सक्षम हैं. यही वजह है कि रक्षा विश्लेषकों का कहना है कि अमेरिका को चीन के साथ हथियारों को लेकर बातचीत करनी चाहिए.

चीन की मिसाइलों से निपटने के लिए अमेरिका के पास नहीं है पर्याप्त हवाई सुरक्षा : चीन की ओर से इन तैयारियों को लेकर आशंका जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में ये मिसाइलों को अपनी मारक क्षमता बढ़ाने और दुश्मनों पर हावी होने वाने मुख्य हथियार के रूप में इस्तेमाल करेगा. चीन के पास इस तरह की कई घातक मिसाइलें हैं, जिनसे अमेरिका को आसानी से निशाना बनाया जा सकता है. ऐसे में अमेरिका को भी चैन नहीं मिलने वाला है. एक वरिष्ठ अमेरिकी जनरल ने खुद स्वीकार किया कि उनके पास अभी भी हवा में चीनी मिसाइलों को मार गिराने के लिए पर्याप्त हवाई सुरक्षा (Air Defense) नहीं है.

119 जगहों पर साइलो के निर्माण की कोशिश कर रहा है चीन :
अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, कैलिफोर्निया में जेम्स मार्टिन सेंटर फॉर नॉनप्रोलिफरेशन स्टडीज के रिसर्चर्स ने सैटेलाइट तस्वीरों का सहारा लिया. इसके जरिए उन्होंने ये पता लगाया कि चीन के उत्तर-पश्चिम में पूरे क्षेत्र में सैकड़ों वर्ग किलोमीटर में फैले कई रेगिस्तानी स्थलों पर इन साइलो को बनाने का काम चल रहा है. रिसर्चर्स ने उन निर्माण स्थलों में से 119 का पता लगाया है जहां चीन अपनी बैलिस्टिक मिसाइलों को लॉन्च करने के लिए नई सुविधाओं का निर्माण कर रहा है .

चीन ने बढ़ाया है अपने हथियारों की ताक़त : वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर चीन 100 से अधिक मिसाइल साइलो का निर्माण पूरा कर लेता है तो इससे चीन की परमाणु क्षमता में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी. माना जा रहा है कि चीन के पास वर्तमान में 250 से 350 तक परमाणु हथियारों का भंडार है. ऐसी स्थिति में चीन इन मिसाइलों की सुरक्षा के लिए अधिक साइलो का निर्माण करेगा. वहीं. चीन पहले ही डिकॉय साइलो तैनात कर चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles