Global Statistics

All countries
198,975,120
Confirmed
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
177,875,179
Recovered
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
4,239,777
Deaths
Updated on August 2, 2021 1:23 am

Global Statistics

All countries
198,975,120
Confirmed
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
177,875,179
Recovered
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
4,239,777
Deaths
Updated on August 2, 2021 1:23 am

Delhi High court : बिना शोध किये बच्चों को न लगाया जाए वैक्सीन

Delhi high court : अगर बिना रिसर्च के बच्चों को Corona Vaccine लगाई जायेगी तो ये एक बड़ी आपदा को निमंत्रण देने के समान होगी. Chief Justice DN Patel और Justice ज्योति सिंह की खंडपीठ ने शुक्रवार को समयबद्ध तरीके से बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च की मांग वाली याचिका पर आपत्ति जताया और बोला अगर बच्चों का उचित शोध के बिना वैक्सीनेशन किया जाता है तो यह एक बड़ी परेशानी बन सकती है.

  • केंद्र ने बताया कि zydus cadilla ने 12 से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए अपना Vaccine trial पूरा कर लिया है और यह वैक्सीन वैधानिक अनुमति(statutory permission) के अधीन है. अहमदाबाद स्थित फार्मास्युटिकल फर्म ने 1 जुलाई को ZyCoV-D (Zydus Cadila Corona Vaccine) के लिए इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी की मांग की थी. zydus cadilla तीन डोज वाली और दुनिया की पहली plasmid DNA कोरोना वैक्सीन है.
  • केंद्र ने अपने हलफनामे में कहा है की कोरोना वैक्सीनेशन केंद्र सरकार की सबसे पहली प्राथमिकता है और Vaccine की डोज की ध्यान में रखकर कम से कम समय में 100 % टीकाकरण प्राप्त करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं, बेंच ने कहा कि वैक्सीन का ट्रायल पूरा होने के बाद ही बच्चों को वैक्सीन लगाई जानी चाहिए, बिना ट्रायल के बच्चों पर वैक्सीन के इस्तेमाल से गंभीर परेशानी पैदा हो सकती है.

 

Hot Topics

Related Articles