29 C
Mumbai
Monday, October 18, 2021
HomeNationalCrime branch (Delhi) :‘सब्जी’ वाले को देता था गोपनीय दस्तावेज भारतीय सेना...

Crime branch (Delhi) :‘सब्जी’ वाले को देता था गोपनीय दस्तावेज भारतीय सेना का जवान ,Pakistan से जुड़े हैं तार

सूत्रों के अनुसार , पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI को भारत की गुप्त सुचना देने वाले हबीब खान से पूछताछ में दिल्ली पुलिस ने चौकाने वाले बयान लिए हैं।क्राइम ब्रांच के पूछताछ के दौरान उसने बताया कि आगरा में तैनात सेना के जवान परमजीत कौर ने उसे सेना के खुफिया दस्तावेज दिए थे। इन कागज़ों को उसे कमल नाम के शख्स को देना था । लेकिन उससे पहले ही दिल्ली पुलिस ने उसे अपने गिरफ्त में ले लिया।

सेना को सब्जी की सप्लाई करता था आरोपी :

सूत्रों के अनुसार, हबीब खान को राजस्थान के पोखरण से दिल्ली पुलिस ने दबोचा। आरोपी के खिलाफ Official Secrets Act के तहत केस दर्ज किया गया है। उसके पास से सेना से जुड़ी कई गुप्त कागज़ातों को जब्त किया गया।

आरोपी हबीब सेना को सब्जी की सप्लाई करता था और इसी की आड़ में वो अपने नापाक मंसूबों को अंजाम दे रहा था. वो गोपनीय दस्तावेजों को पाकिस्तान भेज देता था। आरोपी के पास से Army Area का एक MAP भी मिला। पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के इलज़ाम में गिरफ्त हुए हबीब से Delhi Police और IB समेत कई एजेंसियाँ लगातार पूछताछ कर रही हैं.

Afghanistan : सेना डर के भागी तो महिलाओं ने उठाया हथियार

भारतीय सेना और दिल्ली पुलिस की साझेदारी से कई जगहों पे छापेमारी शुरू

  • आर्मी एरिया में सब्जी की आपूर्ति करने का जिम्मा हबीब खान के पास था जिसके कारण उसकी पहुँची आर्मी किचेन तक थी। सूत्रों के अनुसार हबीब की गिरफ्तारी ने देशहित में अच्छा मोड़ लिया जासूसी के एक खतरनाक नेटवर्क का पर्दाफाश हुआ है। हबीब भारत की जानकारियों को लेकर पाकिस्तान भी जा चूका है।
  • राजस्थान के बीकानेर के रहने वाले हबीब के तार Digital Media से भी जुड़े हैं। हबीब ने अपने बयान में दो-तीन लोगों के नामों के खुलासे किये हैं। अच्छी खबर है की भारतीय सेना और दिल्ली पुलिस की साझेदारी से कई जगहों पे छापेमारी शुरू हो चुकी है.
  • इससे पहले भी इसी महीने की शुरुआत में Punjab Police ने भी ISI के लिए जासूसी करने वाले सेना के 2 जवानों को अपने गिरफ्त में लिया था. जिसमे पुलिस को कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले थे। दोनों की पहचान हरप्रीत सिंह और गुरभेज सिंह के रूप में हुई थी। आरोपितों ने सेना के 900 दस्तावेजों को आईएसएसआई को दिया था।

 

Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News