Global Statistics

All countries
198,846,340
Confirmed
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
177,785,391
Recovered
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
4,238,145
Deaths
Updated on August 1, 2021 5:13 pm

Global Statistics

All countries
198,846,340
Confirmed
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
177,785,391
Recovered
Updated on August 1, 2021 5:13 pm
All countries
4,238,145
Deaths
Updated on August 1, 2021 5:13 pm

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कहा- मुंबई विश्वविद्यालय के भवन निर्माण के लिए शीघ्र हो मंजूरी

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी राज्य में विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति भी हैं. कोश्यारी ने यहां विश्वविद्यालय के कलिना परिसर का दौरा किया और अधिकारियों के साथ बैठक की.

 

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मुंबई विश्वविद्यालय के तैयार भवनों को अनापत्ति प्रमाण पत्र और कब्जा प्रमाण पत्र (ओसी) देने में देरी को ‘राष्ट्रीय संसाधनों की बर्बादी’ करार देते हुए बुधवार को नगर निगम के अधिकारियों से जल्द से जल्द संबंधित मंजूरी देने को कहा. राजभवन द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोश्यारी ने यहां विश्वविद्यालय के कलिना परिसर का दौरा किया और अधिकारियों के साथ बैठक की. उन्होंने विभिन्न विभागों और भवनों का निरीक्षण भी किया.

राज्यपाल राज्य में विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति भी हैं. बयान के अनुसार राज्यपाल ने इस बात पर “कड़ी नाराजगी” जतायी कि बृहन्मुंबई नगर निगम से ओसी और शहर के अग्निशमन विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिलने के कारण 38 भवनों का उपयोग नहीं हो पा रहा है.

विश्वविद्यालय की ‘प्रमुख परियोजनाओं और भविष्य की योजनाओं’ को लेकर राज्यपाल के समक्ष एक प्रस्तुति दी गई तथा उन्हें नए परीक्षा भवन, पुस्तकालय भवन, अंतरराष्ट्रीय छात्रों के छात्रावास और छात्रावास, विरासत संरक्षण के लिए मास्टर प्लान, सौर ऊर्जा परियोजना आदि से भी अवगत कराया गया.

किताब का ज्ञान ही पर्याप्त नहीं है, युवा छात्रों को राष्ट्र निर्माण में आगे आना चाहिए :

हाल ही में डॉ बाबासाहेब आंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि छात्रों को शपथ लेनी चाहिए और राष्ट्र निर्माण में योगदान देना चाहिए. विश्वविद्यालय के 61वें दीक्षांत समारोह में कम से कम 81,736 छात्रों को उपाधियां प्रदान की गयीं. इस मौके पर राज्य के तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत, ‘एआईसीटीई’ के अध्यक्ष अनिल सहस्त्रबुद्धे और कुलपति प्रमोद येओले उपस्थित थे.

इस अवसर पर छात्रों को डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए कोश्यारी ने कहा, “किताबी ज्ञान ही सब कुछ नहीं है. छात्रों को आत्मनिरीक्षण भी करना चाहिए कि वे क्या कर रहे हैं. उनमें बलिदान की भावना होनी चाहिए. यह सोचने के बजाय कि सरकार या देश उनके लिए क्या कर रहा है, छात्रों को यह कहने के लिए सक्षम होना चाहिए कि वे देश में कैसे योगदान देंगे.” राज्यपाल ने आगे कहा कि छात्रों को शपथ लेनी चाहिए और राष्ट्र निर्माण में योगदान देना चाहिए.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles