27.5 C
Mumbai
Sunday, April 11, 2021

चाक की तरह चकरघिन्नी बनी कुम्हारों की जिन्दगी

Must Read

महाराष्ट्र में लगेगा पूर्ण लॉकडाउन, CM उद्धव ठाकरे ने दिये संकेत ! फडणवीस ने कहा … तो फूट जायेगा लोगों का गुस्‍सा

सोमवार या मंगलवार को हो सकती समी़क्षा मुंबई. कोरोना पर सर्वंदलीय बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि पूर्ण...

महाभारत के ‘इंद्रदेव’ और कांग्रेस विधायक की कोरोना से मौत

                    कांग्रेस नेता रावसाहेब जयंतराव अंतापुरकर      ...

सुनी गलियां, सुना मंजर… कुछ ऐसी नजर आई मुंबई की सड़कें !

  मुंबई.महाराष्ट्र में शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक लगाये गये वीकेंड पूर्ण लॉकडाउन (Maharashtra Weekend...

ज्ञानपुर। गांव में चिलचिलाती दोपहर में नंगे बदन मिट्टी से जूझते कुम्हार परिवारों के लोग अपना तन.बदन जला कर भीषण गर्मी में बच्चों के शादी और मृत्यु भोजन के लिए कुल्हड़ और सकोरा और गर्मी में शीतल जल उपलब्ध करने के लिए घड़े और सुराहियां बनाने लगे हैं। ये लोग शासन की उपेक्षा और कमर तोड़ महंगाई के चलते आर्थिक संकट से जूझ रहे है।

मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए उपयुक्त चिकनी मिट्टी की तलाश से शुरू होने वाली दिनचर्या कुम्हार जाति के लोगों के लिए शाम कब और कहा हो जाये ये पता ही नहीं चल पाता। ये लोग प्रात: होते ही मिट्टी की तलाश में निकल जाते है। बमुश्किल इतनी मिट्टी का ही इंतजाम कर पाते है कि एक वक्त की रोटी का इंतजाम हो सके। इनकी मिट्टी ढूढऩे से लेकर लाने व ले जाने की प्रक्रिया इतनी जटिल है। कुम्हार जाति के बच्चे बचपन में पढऩे और खेलने के समय को दरकिनार कर मिट्टी को अपना भविष्य मानकर इसको विभिन्न प्रकार के रूपों में तराशने के लिए दिन रात लगे रहते है और मिट्टी को आकार देने की कला में अभ्यस्त होते ही अपने पेट के लिए दो जून की रोटी का इंतजाम करने में लग जाते है।

यह बच्चे अपने खुद के वजन से अधिक मिट्टी का बोझ सिर पर लादे गीली मिट्टी के साथ छेड़छाड़ करने के साथ इनकी जिंदगी भी वक्त की धुरी पर चाक की भाति चकरघिन्नी बनी हुई है। भीषण तपिश में हाथों के छाले सहलाते वे मासूम बच्चें और चाक पर विद्युत गति के साथ हर कत करती उनकी नन्हीं उंगलियों कि कशीदाकारी से तैयार मिट्टी के बर्तनों के माध्यम वर्गीय लोगों को राहत पहुंचाती है। उनका कहना है कि हालात तेजी के साथ बदलते जा रहे है और मंहगाई जीने के सारे रास्ते बन्द करने पर तुली है। शासन की उपेक्षा के कारण विभिन्न समस्याओं से कुम्हार उभर नहीं पा रहे है।

ALSO WATCH THIShttps://youtu.be/5FWfYpRrkOI

दैनिक उपयोग के साथ.साथ शादी विवाह में एकाएक बड़ा प्लास्टिक के बर्तनों का चलन इन कुम्हारों के लिए अत्यधिक संकट पैदा कर रहा है पहले शादी विवाह व अन्य कार्यक्रमों में चाय पानी के लिए  कुल्हड़ों का इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन वर्तमान में इन कुल्हड़ो व सकोरों का स्थान प्लास्टिक निर्मित प्लेटों दोने .पत्तलों ने लिया है जिससे उनके सामने आर्थिक समस्या भी बड़ी बेरहम बनकर उभरने लगी है।  इन सबके बाबजूद स्थानीय जनप्रतिनिधि उन लोगो की समस्याओं से वाकिफ हो कर भी अनजान बने हुये है।

कई वर्षो से इस जाति कि मिट्टी कि खुदाई नगर अथवा इसके आस.पास के क्षेत्र में किसी तलाब या जमीन आंवटित करने की जोरदार मांग की जाती रही है। परन्तु किसी भी जनप्रतिनिधि ने इनकी सबसे बड़ी समस्या को सुनना तो दूर सुनना भी पसंद नहीं किया। मिट्टी की तलाश में भटकती बूढ़ी आंखें इस बात को लेकर फिकर मंद हैं कि आने वाले समय में दो जून की रोटी कैसे मयस्सर होगी।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

महाराष्ट्र में लगेगा पूर्ण लॉकडाउन, CM उद्धव ठाकरे ने दिये संकेत ! फडणवीस ने कहा … तो फूट जायेगा लोगों का गुस्‍सा

सोमवार या मंगलवार को हो सकती समी़क्षा मुंबई. कोरोना पर सर्वंदलीय बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि पूर्ण...

महाभारत के ‘इंद्रदेव’ और कांग्रेस विधायक की कोरोना से मौत

                    कांग्रेस नेता रावसाहेब जयंतराव अंतापुरकर       इंद्र की भूमिका निभाने वाले...

सुनी गलियां, सुना मंजर… कुछ ऐसी नजर आई मुंबई की सड़कें !

  मुंबई.महाराष्ट्र में शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक लगाये गये वीकेंड पूर्ण लॉकडाउन (Maharashtra Weekend lockdown guidelines) के दौरान शनिवार...

बंगाल विधानसभा चुनाव: चौथे चरण के मतदान में हिंसा, गोलीबारी में 5 लोगों की मौत, पोलिंग बूथ 126 पर वोटिंग बंद

कोलकता. बंगाल विधानसभा चुनाव एक फिर हिंसक बन गया. शनिवार को शीतलकुची के माथाभंगा ब्लॉक में गोलीबारी कि घटना सामने आई है . चौथे...

मीरा-भायंदर में पानी की समस्या से लोग परेशान, नगर निगम अच्छी जलनीति का अभाव : मनसे   

मीरा भायंदर ।  मीरा भायंदर नगर निगम की स्थापना 28 फरवरी 2002 को हुई थी। भले ही निगम को अपनी स्थापना के 19 साल...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -