Global Statistics

All countries
197,948,685
Confirmed
Updated on July 30, 2021 11:48 pm
All countries
177,154,704
Recovered
Updated on July 30, 2021 11:48 pm
All countries
4,223,053
Deaths
Updated on July 30, 2021 11:48 pm

Global Statistics

All countries
197,948,685
Confirmed
Updated on July 30, 2021 11:48 pm
All countries
177,154,704
Recovered
Updated on July 30, 2021 11:48 pm
All countries
4,223,053
Deaths
Updated on July 30, 2021 11:48 pm

Maharashtra : डॉक्टर का अनोखा प्रयोग, बिना एनेस्थेसिया दिए बच्चे के गले से निकाला सेल

इंडियन असोसिएशन ऑफ एनेस्थीसियोलॉजिस्ट (IAOA) के आंकड़ों के मुताबिक पूरे देश में इस वक्त तकरीबन चालीस हजार एनेस्थीसिया (Anaesthesia) के डॉक्टर ही हैं। हालांकि उनकी असोसिएशन से महज बीस हजार डॉक्टर ही जुड़े हैं। कॉन्फ्रेंस में डॉक्टरों की कमी को लेकर विशेषज्ञों ने चिंता जताई। असोसिएशन की यूपी चैप्टर की सेक्रेटरी डॉ़ मोनिका कोहली ने बताया कि एनेस्थीसिया के डॉक्टर को सर्जरी से पहले बेहोश करने के अलावा मरीज की आईसीयू (ICU) तक में देखरेख करने तक की जिम्मेदारी होती है। ऐसे में डॉक्टरों (Doctor) की कमी का असर मरीजों के इलाज पर पड़ना लाजिमी है।

Maharashtra : महिला के साथ चैन स्नैचिंग की घटना

ऐसे निकाली बच्चे के गले से सेल

डॉक्टर ने फोलिज कैथेटर के एक छोर को बच्चे के मुंह से अंदर डाला, कुछ अंदर तक कैथेटर धकेलने के बाद दूसरे छोर से सलाईन लगा दिया. कैथेटर के सामने के हिस्से में छोटा सा गुब्बारा (Balloon) बन गया. गुब्बारा बनने के बाद धीरे-धीरे उसे बाहर निकाला गया.

जब कैथेटर पूरा बाहर आया तो बच्चे के माता-पिता के साथ डॉक्टर भी हैरान रह गए. गुब्बारे के साथ सेल भी बाहर आ गया. सेल के एक तरफ लाल रंग निकल आया था, जिसके बारे में डॉक्टर ने कहा कि सेल में लिथियम होता है. गले के अंदर उसका विघटन शुरू हो गया था. अगर कुछ देर वह अंदर रहता तो मासूम के लिए जानलेवा बन जाता.

लोग पूछ रहे- कैसे किया?

यह ऐसे मामलों का डील करने का यह तरीका अनोखा है. बच्चे के गले से सेल भी निकाल लिया, बिना एनेस्थेसिया दिए हुए, जो हैरान करता है. पूरे जिले में ही इस ऑपरेशन (Opration) की चर्चा हो रही है. लोग डॉक्टर से पूछ रहे हैं कि यह कैसे संभव हुआ.

Hot Topics

Related Articles