Global Statistics

All countries
198,975,120
Confirmed
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
177,875,179
Recovered
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
4,239,777
Deaths
Updated on August 2, 2021 1:23 am

Global Statistics

All countries
198,975,120
Confirmed
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
177,875,179
Recovered
Updated on August 2, 2021 1:23 am
All countries
4,239,777
Deaths
Updated on August 2, 2021 1:23 am

भारत के इन मंदिरों के अंदर मना है पुरुषों का जाना ,आखिर क्यों ?

भारत में धर्म को लेकर कई अजीबोगरीब मान्यताएं स्थापित हैं. क्या आप इनके बारे में जानते हैं? भारत में कई मंदिर तो ऐसे हैं जहां पुरुषों का जाना वर्जित है, कई मंदिरों में तो साल के कुछ दिन सिर्फ महिलाओं को ही पूजा-अर्चना करने की अनुमति है. आइए आपको भारत के कुछ ऐसे ही धार्मिक स्थलों के बारे में बताते हैं. 

अट्टुकल भगवंती मंदिर, केरल- केरल के अट्टुकल भगवंती मंदिर में एक त्योहार का आयोजन किया जात है, जिसकी जिम्मेदारी सिर्फ महिलाओं के हाथ में ही होती है,इसके प्रमुख त्योहार अट्टुकल पोंगल में हर तरफ सिर्फ महिला श्रद्धालुओं की ही भीड़ दिखाई देती है.

आपको जानकर हैरानी होगी कि धार्मिक मंच पर महिलाओं की इतनी भारी संख्या को लेकर इसने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज करवा रखा है,करीब 10 दिन तक मनाए जाने वाला यह त्योहार फरवरी से मार्च के बीच सेलिब्रेट किया जाता है.

ब्रह्मा मंदिर, राजस्थान- ये ब्रह्म देवता के सबसे दुर्लभ मंदिरों में से एक है. इस प्रसिद्ध मंदिर में विवाहित पुरुषों को ब्रह्म देवता की पूजा के लिए गर्भगृह में जाने की इजाजत नहीं है,मंदिर में एक देवता की पूजा के बावजूद आज तक यहां पुरुषों को जाने की अनुमति नहीं है.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान ब्रह्मा देवी सरस्वती के साथ यज्ञ करने वाले थे. लेकिन देवी सरस्वती वहां देरी से पहुंचीं तो उन्होंने देवी गायत्री से विवाह कर यज्ञ पूरा किया. तभी सरस्वती ने श्राप दिया कि इस मंदिर में आज के बाद कोई पुरुष नहीं आएगा. यदि ऐसा हुआ तो उसका वैवाहिक जीवन दुखों से भर जाएगा.

देवी कन्याकुमारी, कन्याकुमारी- भारत के दक्षिणी भाग में स्थित इस मंदिर में साल के 365 दिन किसी भी वक्त पुरुषों को जाने की अनुमति नहीं है. मंदिर के द्वार तक सिर्फ संन्यासी पुरुषों को ही जाने की इजाजत है, जबकि शादीशुदा पुरुषों की एंट्री परिसर में वर्जित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles