28 C
Mumbai
Sunday, November 29, 2020

रिपोर्ट में दावा: अफगानिस्तान से 2024 तक लौटेगी अमरीकी सेना

Must read

मारपीट में मां बेटी सहित तीन घायल

गोपीगंज। थाना क्षेत्र के बड़ागांव और चितईपुर गांव में मारपीट की अलग अलग  हुई घटना में मां मां बेटी सहित तीन महिला घायल हो...

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष का हुआ स्वागत

घोसिया। औराई क्षेत्र अन्तर्गत भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष अखंड प्रताप सिंह की अध्यक्षता में भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा...

कार्तिक पूर्णिमा कल

ज्ञानपुर। सोमवार 30 नवंबर को कार्तिक मास की पूर्णिमा है और इस तिथि पर देव दीपावली का पर्व मनाया जाता है। हिंदू धर्म में कार्तिक...

समाजवाद के रास्ते ही मजबूत होगा प्रदेश-मधुबाला पूर्व सपा विधायक के नेतृत्व में समाजवादियों ने किया जनसम्पर्क

औराई। आगामी एक दिसंबर को होने वाले शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव को लेकर सियासी संग्राम अंतिम मुहाने पर आ गया है। खासतौर सूबे...
MCS Deskhttps://metrocitysamachar.com/
Latest Breaking News India, Express Headlines 2020, Political News - Metro City Samachar

वाशिंगटन। अफगानिस्तान में तैनात अमरीकी सैनिक पेंटागन की नई नीति के तहत अगले तीन से पांच साल में अपने देश लौटेंगे। इस बारे में अमरीकी मीडिया के हवाले से जानकारी मिल रही है। रिपोर्ट के अनुसार, अमरीका और अफगान तालिबान के बीच वार्ता में मददगार मानी जा रही इस नीति में दक्षिण एशियाई देश में तैनात 14,000 सैनिकों की संख्या आधी करने की भी बात की है।

अमरीकी सेना जुटेगी आतंकवादरोधी अभियान में

वाशिंगटन और ब्रसेल्स स्थित उत्तरी अटलांटिक संधि संघ (नाटो) मुख्यालय द्वारा व्यापक रूप से स्वीकार की गई इस नीति के अनुबंध के तहत अफगानिस्तान में तैनात 8,600 यूरोपीय और अन्य अंतर्राष्ट्रीयसैनिकों का मुख्य ध्यान अफगानिस्तानी सेना को प्रशिक्षित करेंगे, जिससे अमरीकी सेना आतंकवादरोधी अभियानों में जुट जाएगी।

अमरीकी-तालिबान के बीच वार्ता

पेंटागन के प्रवक्ता कोन फॉकनर ने हालांकि यह स्पष्ट कर दिया है कि चूंकि शांतिवार्ता चल रही है तो कोई निर्णय नहीं लिया गया है। अमरीका अपनी सेना की संख्या और तैनाती के सभी विकल्पों पर विचार कर रहा है। समाचार एजेंसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दोनों पक्षों के बीच पांचवें चरण की वार्ता कतर की राजधानी दोहा में सोमवार को शुरू हो चुकी है और अफगानी संधि के लिए अमरीकी के प्रमुख प्रतिनिधि जलमाय खलीलजाद ने गुरुवार को तालिबान से वार्ता को सकारात्मक बताया। साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि आंतरिक विचार-विमर्श के बाद वार्ता शनिवार को जारी रहेगी।

तालिबान से शांतिवार्ता के दौरान वार्ताकारों को लाभ की स्थिति में रखने के उद्देश्य से पेंटागन ने कथित रूप से 2014 के बाद से अफगानिस्तान में हवाई हमलों और छापामारी को सर्वोच्च स्तर पर कर दिया है। 11 सितंबर, 2001 को अमरीका में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में आतंकवादी हमला होने के बाद अफगानिस्तान में मरने वाले अमेरिकी सैनिकों की संख्या 2,400 पार कर चुकी है।

More articles

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest article

मारपीट में मां बेटी सहित तीन घायल

गोपीगंज। थाना क्षेत्र के बड़ागांव और चितईपुर गांव में मारपीट की अलग अलग  हुई घटना में मां मां बेटी सहित तीन महिला घायल हो...

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष का हुआ स्वागत

घोसिया। औराई क्षेत्र अन्तर्गत भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष अखंड प्रताप सिंह की अध्यक्षता में भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा...

कार्तिक पूर्णिमा कल

ज्ञानपुर। सोमवार 30 नवंबर को कार्तिक मास की पूर्णिमा है और इस तिथि पर देव दीपावली का पर्व मनाया जाता है। हिंदू धर्म में कार्तिक...

समाजवाद के रास्ते ही मजबूत होगा प्रदेश-मधुबाला पूर्व सपा विधायक के नेतृत्व में समाजवादियों ने किया जनसम्पर्क

औराई। आगामी एक दिसंबर को होने वाले शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव को लेकर सियासी संग्राम अंतिम मुहाने पर आ गया है। खासतौर सूबे...

मनबढ़ो ने घर में घुसकर की मारपीट

भदोही। स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के ज्ञानपुर रोड स्थित छेड़ीबीर मोहल्ले में शनिवार को कुछ लोगो द्वारा एक महिला एवं बच्चे को मारपीट कर घायल...